Jahan Chah Wahan Raah | जहाँ चाह वहाँ राह : यही सत्य है सफलता का

नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है इस साईट पर दोस्तों आज हम आपके लिए एक न्यू पोस्ट लेकर आए है, जहाँ चाह वहाँ राह यही सत्य है सफलता का, इस पोस्ट को पड़ने के बाद हमें यकीन है की आपके जीवन को एक नया उद्देश जरूर मिल जायेगा तो चलिए जानते है इस पोस्ट के बारे में.

Jahan Chah Wahan Raah. where there’s a will there’s a way essay, jahan chah wahan raah essay in hindi, Ability to solve problems, जहाँ चाह वहाँ राह, यही सत्य है सफलता का.

Jahan Chah Wahan Raah | जहाँ चाह वहाँ राह : यही सत्य है सफलता का

Jahan Chah Wahan Raah है, अंग्रेजी में एक पुरानी कहावत है जो हमें जीवन में सफलता प्राप्त करने के सबसे महत्वपूर्ण विषय के बारे में सिखाती है. एक अच्छा लक्ष्य बनाना हमारा मकसद बन जाता है लेकिन लक्ष्य को हासिल करने के लिए दृढ़ इच्छाशक्ति और समर्पण की जरूरत होती है. बिना इच्छा शक्ति के लोग कभी भी सफलता प्राप्त नहीं करते और वे अपने भाग्य को कोसते हैं. इस सामान्य कहावत का सीधा सा मतलब है कि यदि कोई व्यक्ति कुछ हासिल करने के लिए पर्याप्त रूप से दृढ़ है, तो वह हमेशा ऐसा करने का एक तरीका ढूंढता है.

What to do to be successful : सफल होने के लिए क्या करें

आजतक जितने भी कामयाब हुये है, उन्होंने एक ही दिशा की ओर अपने कदम बढाए. सफलता, कामयाबी ऐसे ही किसी को हासिल नही होती, जिवन मे कामयाब होना है तो इसकी कुछ सिडियाँ है Jahan Chah Wahan Raah.

  • सबसे पहले अपना ’’उद्देश’’ तय करो.
  • अपने ’’उद्देश’’ को अपनी ’’मंजिल’’ बनाकर हमेशा सकारात्मक सोचो.
  • अपने ’’उद्देश’’ को अपनी चाह बनालो.
  • उद्देश पाने की चाह मे आगे बढो.

दोस्तों अगर आपने अपने जीवन में ये चार सिडियो को अपना लिया तो सफलता एक दिन आपके कदम चुमेगी. लेकीन, आजकल के बच्चोंकी चाह, इच्छाशक्ती क्या है? आजके युवाॅंओ की चाह क्या है? खर्रा, धुम्रपान, शराब और साथ मे दो- चार गर्लफ्रेंड या बाॅयफ्रेंड रखना, आजकल तो गर्लफ्रेंड – बाॅयफ्रेंड एक फॅशन हो गया है.

Ability to solve problems : समस्याओं को हल करने की क्षमता

दोस्तों हर किसी मे समस्या से छूँटकारा पाने की क्षमता होती है. एक दिन एक लडकी अपना रोता हुआ चेहरा लेकर मेरे पास आयी और बोली, यार, मुझे तेरी मदद चाहिए. मैने पूँछा, किस बात के लिए मदद चाहिए उसने बताया, मै बाॅयफ्रेंड के चक्कर मे जाना छोडना चाहती हूँ. आजतक मेरा इस काम मे बहुत-ही नुकसान हुआ मैने कहा यह तो बहुत ही अच्छा है.

अगर तुम्हारा उस बातसे नुकसान होता है तो उसे छोडना ही बेहतर है. इसके लिए मै तुम्हें अपनी एक सहेली से मिलाउंगी ; जो तुम्हे इस मामले से आसानीसे निकाल सकती है. दुसरे दिन हम दोनो उस सहेलीसे मिलने उसके घर गये. वहा जाकर हमे पता चला की, वह किसी काम से बाहर गयी है फोन करने पर पता किया और वह जिस जगह थी, वहा हम दोनो भी पहूँचे. देखे, तो वह किसीका इंतजार कर रही थी, उसके पास जाकर पूँछे तो उसने जवाब दिया, अरे यार, मै दो घंटोसे मेरे बाॅयफ्रेंड की राह देख रही हु अभीतक आया ही नही इस बातपर पहली दोस्त बोली, आप पागल हो? दो घंटो से आप अपने बाॅयफ्रेंड का इंतजार कर रहे हो.

ऐसे तो आपका बहुत समय बरबाद होता होगा आप ऐसी राह को छोड कर अपना समय अपने उद्देश की ओर बिताए. इस बात पर वह नई दोस्त बोली, जब आपको पता है, की बाॅयफ्रेंड के चक्कर मे इतना नुकसान है, तो आजतक आपने टाईमपास क्यूँ किया? आप खूद इतने समझदार हो, की आपको किसी के मदद की जरूरत ही नही. बिना किसीकी मदद लिए आप खुद इस समस्या से बाहर निकल सकते है.

Learn to strengthen the mind : दिमाग को मजबूत करना सीखो

इसके लिए आपका मन मजबूत होना अति-आवश्यक है. अगर आपकी चाह मजबूत है, तो आपके लिए दुनियाॅं की कोई भी बात मुश्किल नही. बच्चो को जिस क्षेत्र मे दिलचस्पी हो, उसी क्षेत्र मे उन्हें पढने दे, बहोत-से माता-पिता ऐसे भी है, जो अपने बच्चोंपर अपनी इच्छा जताते है. बच्चोंकी इच्छा रहती है- तांत्रिक क्षेत्र मे जानेकी और माता-पिता चाहते है की मेरा बेटा मेडिकल, शैक्षणिक क्षेत्र मे जाए.

इससे बच्चोंके दिमाकपर बुरा असर होता है. इसलिए बच्चोंका जहा मन हो, वही करने दिजिए. उन्होंने चुनी हुई राह यदी गलत हो तो आप उन्हें सजग करे. बच्चे अपने इच्छा से चुने हुये क्षेत्र मे जाते है तो मन लगाकर पढते है और आगे भी बढते है. लेकीन दबाव मे आकर पढे तो गलत रास्तेपर जाने के लिए भी समय नही लगता.

जीवन मे आगे बढने के लिए सकारात्मक विचार महत्त्वपूर्ण होते है, क्यूँ की यह विचार ही हमे आगे बढाते है. मंजिल कब मिलती है, हमे पता भी नही चलता. इसिलिए, कोई भी कार्य करते समय हमेशा सकारात्मक सोचिए किसी भी कार्य मे सफल होना चाहते हो तो सिर्फ सकारात्मक विचार ही आपको मंजिल तक पहुँचा सकते है हमेशा सकारात्मक रहिए.

How are children harassed in the name of sanskar? : संस्कार के नाम पर बच्चों को कैसे प्रताड़ित किया जाता है?

एक दिन ऑफिस मे कुछ लडकियाँ आई, वह फ्रि कोर्स करना चाहती थी. ऑफिस से उन्हे पता चला की ऐसे कोर्स चालू होने के लिए तिन-चार महिने समय लगनेवाला है. लडकियाँ एक-दुसरे की ओर देखकर चिंतित हुई, उनमेसे एक लडकी बोली- क्या यह कोर्स जल्दी शुरू नही हो सकते? जवाब पूँछने पर उन्होंने बताया- हमारे समाज मे ज्यादा नही पढाते जल्द ही शादी कर देते है. वैसे तो हमारी अभी शादी करने की इच्छा नही, लेकीन समाज और माँ-बाप के खातिर हमे शादी करनी पडेगी. हमारे पास बी.ए. पूर्ण होने तक याने दो-तिन महिने का ही समय है. इतने जल्दी कोर्स शुरू नही हो सकते ऐसा सुनने पर लडकीयाँ मायूस होकर चली गयी समाज के नाम पर, अपने बच्चों की इच्छाओं को मिट्टी मे न मिलाए.

सवाल किसी एक का होता तो उन्हे समझाया जा सकता है लेकीन यहा तो सवाल कुछ मानव जाती का है. बच्चोंकी इच्छा रहने पर उसे समाज के रितिरिवाजोंके नाम पर मिट्टी मे न मिलाए. आपके बच्चे मे कितनी और कौन-सी क्षमता है, यह माँ-बाप अच्छेसे जानते है. अगर आपके बच्चे मे कुछ क्षमता है; तो आप उन्हें आगे बढने के लिए मदद करे. न-की समाज के नाम पर पिछे लाये आपके बच्चे ने कुछ बनकर दिखाया तो यही समाज आपको झूँक कर सलाम भी करेगा.

Jahan Chah Wahan Raah : जहां चाह है, वहां राह है, यही सच है

माता-पिता से मेरा नम्र निवेदन है की- समाज के डर से बच्चों की इच्छाओंको मत दबाइए. अच्छे काम मे अपने बच्चोंकी भलाई देखकर उन्हें आगे बढाने के लिए प्रोत्साहित करे, समाज के डर से अपने बच्चोंके सपनो का गला ना घोटे. दोस्तो, हर किसी की कुछ-न-कुछ चाह होती ही है, लेकिन उस चाह के अनुसार आगे बढनेवाले बहोत ही कम होते है. जो अपनी चाह, इच्छा, मंजिल के प्रती सच्चे होते है, वे ही कामयाब होते है कुछ अच्छा करने का सोचकर तो देखो.

अच्छी सोच को आगे बढाने का सोचकर तो देखो, अपनी सोच को हमेशा सकारात्मक बनाकर तो देखो, सकारात्मक विचारों मे हमेशा रहकर तो देखो, कतारे कब सितारे बन जायेंगे, यह पता भी नही चलेगा. दोस्तो, आपके लिए सबसे ज्यादा महत्त्वपूर्ण है, अपना उद्देश तय करना. उसी राह पर चलनेकी शुरूवात करो उस राह पर चलने के लिए हमेशा सकारात्मक सोचो, एक दिन आपको आपकी मंजिल जरूर मिलेगी.

आपके जीवन मे आनेवाले हर सुनहरे पल के लिए इस दोस्त की ओर से ढेरो सुभकामनाए.

यह भी पढ़े :

Leave a Reply

https://www.videosprofitnetwork.com/watch.xml?key=bbfecdcc01b94dfff0b88620d1e44491
error: Content is protected !!