True Love Story of 9th Class | 9 वीं कक्षा की सच्ची प्रेम कहानी

True Love Story, धड़कते दिल की कहानी – Story of throbbing heart, True Love Story of 9th Class – 9 वीं कक्षा की सच्ची प्रेम कहानी, अनोखी प्रेम कहानी – Unique love story, फेस बुक पर प्यार – Love on facebook, कॉलेज की प्रेम कहानी – College love story, पहला प्यार – first love.

नमस्कार दोस्तों, हमारी साइट पर आपका स्वागत है दोस्तों, आज हम आपके लिए एक प्रेम कहानी लेकर आए हैं जिसमें हम आपको 9 वीं कक्षा की True Love Story के बारे में बताएंगे, जो आप BarveTips.Com पर पड़ रहे हैं, तो चलिए दोस्तों हम आपको कहानी की और लेकर चलते है.

True Love Story of 9th Class | 9 वीं कक्षा की सच्ची प्रेम कहानी

प्रस्तावना : Preface True Love Story

यह लव स्टोरी 9 वि कक्षा में पड़ने वाली सिमरन नाम की लड़की की True Love Story है. दोस्तों कहते है की प्यार किसी उम्र का मौताज नही होता, यानी प्यार किसी की भी उम्र देख कर नहीं किया जाता है. यह एक ऐसास है जो कभी भी किसीको भी किसी के प्रति हो जाता है. ऐसा ही कुछ हुआ मुंबई की रहने वाली सिमरन के साथ दोस्तों आपको बता दू की सिमरन एक मिडल क्लास फॅमिली से है.

उसके घर में उसकी माँ और दो बहनो के साथ वह रहती थी सिमरन उस समय 9 वी कक्षा में पड़ती थी और उसकी माँ और दो बहने काम पर जाती थी. सिमरन एक सीधी साधी लड़की थी और उसे प्यार के नाम से बहुत नफरत थी और प्यार करने वालो से भी लेकिन उसे क्या पता था की एक दिन वह भी किसीसे प्यार कर बैठेंगी, दोस्तों सिमरन को प्यार कैसे हुआ आइए जानते है.

यह भी पढ़े :

सिमरन का पारिवारिक जीवन : Simran’s family life

दोस्तों जैसे हमने बताया की सिमरन एक मिडल क्लास फॅमिली से है और उनके घर पर एक ही मोबाइल था जो की ज्यादा तर सिमरन के माँ के पास रहता था, सिमरन उस समय 9 वी कक्षा में पड़ती थी एक दिन सिमरन के हाथो में घर का मोबाइल आया और सिमरन मोबाइल पर गेम खेलने लगी अचानक गेम खेलते खेलते उस मोबाइल पर एक न्यू नंबर से msg आया सिमरन उस नंबर को नहीं जानती थी लेकिन फिर भी उसने msg पड़ा उस msg में एक प्यार भरी शायरी लिखी हुई थी, सिमरन उस शायरी को पढ़के बहुत खुस हुई उस समय उस msg को डिलेट करने के बजाय msg पढ़ा और उसके msg का rply किया की शायरी बहुत खूबसूरत है.

दूसरी बार सिमरन ने फिर msg किया की आप कोण हो मेरा यह नंबर आपको कहा से मिला मै आपको नहीं जानती, लेकिन आगे से कोई जवाब ही नहीं मिल रहा था सिमरन जवाब का इंतजार कर रही थी जवाब न मिलने पर सिमरन ने अपना मोबाइल रख दिया और अपने काम में वेस्थ हो गई.

प्रेम का सौहार्द : Love harmony

कुछ समय के बाद उसी नंबर से जवाब आया msg में लिखा था सॉरी जी मै अपने भाई को यह msg सेंड कर रहा था गलती से आपके मोबाइल पर सेंड हो गया. सिमरन बोली ऐसे कैसे गलती से सेंड हो गया मुझे जब आप अपने भाई को यह msg सेंड कर रहे थे तो आपके भाई का नंबर को आपके मोबाइल में सेव रहने को होना इस तरह से दोनों में बातो का सिलसिला शुरू हुआ, लड़के ने फिर से सॉरी बोला तब सिमरन बोलती है, होता है कभी कभी ऐसे लेकिन आपकी शायरी बहुत अच्छी थी मुझे बहुत अच्छी लगी. लेकिन देखा जाए तो ऐसे msg दो प्यार करने वाले अपने गर्ल फ्रेंड या बॉय फ्रेंड को सेंड करते है आप अपने भाई को ऐसे msg सेंड करते हो.

आमिर बोला उस लड़के का नाम आमिर था जो भोपाल में किसी कंपनी में काम करता था. सिमरन के बातो का जवाब देते हुए आमिर कहता है जी वो मेरा भाई कम मेरी गर्ल फ्रेंड ज्यादा है. हम दोनों साथ रहते है वो थोड़ा नाराज है मुज़से तो उसको मनाने के लिए शायरी भेजा था लेकिन वो भी आपको आ गई सॉरी अगर मेरी कोई बातो का बुरा लगा हो तो एक ही msg ने हम दोनों में दोस्ती कर दी.

चुपके से फोन करती थी : True Love Story

दोनों एक दूसरे से अच्छे तरह बात करने लगे थे लेकिन सिमरन के पास मोबाइल न होने के कारण सिमरन आमिर से बहुत कम बात करती थी जैसे ही सिमरन के घर में कोई नहीं रहते थे तो सिमरन आमिर msg करती थी और कभी कभी चुपके से फोन करती थी. आमिर काम में रहने के वजह से कई बात उन दोनों की बात नहीं हो पाती थी, सिमरन ने आमिर को पहिले ही बता दी थी की जब तक मै खुदसे msg या कॉल नहीं करती तब तक आप भी नहीं करोंगे आमिर ने भी इस बात पर हामी भर दी.

दोनों में काफी बाते होती थी सिमरन अपना ज्यादा से ज्यादा समय आमिर को देती थी और तो और सिमरन का पढ़ाई से ध्यान कम होते जा रहा था और हर समय वो आमिर से ही बात करने को देखती थी. सिमरन अपने घर की हर एक बात उसे बताती थी मनो आमिर ही उसके लिए सबकुछ हो, रात में सब लोग सोने के बाद सिमरन आमिर से चुपके से बात किया करती थी, आमिर भी अपनी सारी बाते सिमरन से शेयर करता था. आमिर को सिमरन के आवाज बहुत पसंद थी और दोनों को गाने गाने का बहुत शौक था और जब भी आमिर और सिमरन की फोन पर बात होती थी तो वे दोने गाने गाते थे ऐसे ही यह दोस्ती बहुत लंम्बे समय तक चली.

दो प्रेमी का मिलन : True Love Story

एक दिन सिमरन ने आमिर को एक लड़के के बारे में बताया की वह उसे बहुत पसंद करता है और उस लड़के ने उसके पास आने की कोशिश भी की, यह बात सुनकर आमिर को बहुत गुस्सा आया वह अपने गुस्से पर काबू नहीं रख पाया और उस लड़के को अनाप-सनाप कुछ भी बोला ही और सिमरन पर भी गुस्सा किया सिमरन अचानक बहुत डर गई अभी वे सीधे साधे आमिर से बात कर रही थी अचानक में ऐसा कैसा हुआ सिमरन ने आमिर से पूछा की क्या हुआ इतना गुस्सा किस बात का है, किसीने आज दिमाक ख़राब किया क्या ? ये आप मुझे पूछ रहे हो आपने अभी जो बात बताये हो मै उसको लेकर गुस्सा हु आपने उस लड़के को दो थप्पड़ मारने चाहिए थे बिना कुछ बोले ही छोड़ दिया, सिमरन कहती है.

ऐसा नहीं है आमिर की मैंने उसे बिना कुछ बोले ही छोड़ दिया मैंने उसे बोला की अब ऐसा नहीं होना चाहिए नहीं तो मैँ उसके घर पर बता दूंगी और वैसे भी मैंने यह बात आपको अपना फ्रेंड समझकर बताई क्या मैंने गलत की, जैसे ही सिमरन ने फ्रेंड बोली तो उतने में ही आमिर ने फ़ोन कट कर दिया, सिमरन समज नहीं पाई फ़ोन कैसे कटा तो सिमरन ने फिर से फ़ोन किया पर आमिर ने फ़ोन नहीं उठाया और बार बार सिमरन का फ़ोन कट कर रहा था फिर सिमरन ने msg किया लेकिन आमिर न कॉल उठता और न ही msg का जवाब देता था.

मुजे अपना दोस्त मान रहे हो

एक दिन सिमरन से आमिर को msg लिखा, सिमरन लिखती है आमिर मुझे लगता है की मैंने आपको ऐसा कुछ गलत बोल दी जिस से आपको बुरा लगा है इस लिए आप मुजसे बात नही कर रहे हो अगर ऐसी कोई बात हुई है तो आमिर I Am Sorry लेकिन अब मै भी आपको कोई कॉल या msg नही करुँगी.

जैसे ही यह msg आमिर ने पड़ा तो तुरंत आमिर ने सिमरन को कॉल किया और कहा की आप अभी भी मुजे अपना दोस्त मान रहे हो लेकिन जब से आपने मुजे उस लड़के की बात बताए हो उस लडके पर मुजे अभी तक गुस्सा आ रहा है.

हलकी सी नोक – जोक : True Love Story

सिमरन ने कहा क्या आप मुजे अपना दोस्त नही मानते तब आमिर ने कह नहीं यार ऐसी बात नही आप मेरे दोस्त तो हो ही लेकिन मेरे लिए दोस्त से भी बढकर हो, सिमरन कुछ समज नही पाई की आखिर आमिर कहना क्या चाहता है फिर सिमरन के जोर डालने पर आमिर ने बताया की वो सिमरन से प्यार करने लगा है और उसे बहुत बसंद करता है. और तब आमिर से सिमरन को सीधा प्रपोज किया और सिमरन के जवाब का इंतजार करने लगा.

सिमरन ने आमिर के प्रपोजल का कोई जवाब ही नही दिया वो खुद ही हैरान थी की जैसे मै आमिर से प्यार करती हु वैसे ही आमिर भी मुजसे प्यार करता है दरसल सिमरन को देखना था क्या मै जैसे आमिर से प्यार करती हु क्या वो भी मुजसे प्यार करता है की नही. फिर दुसरे दिन आमिर ने सिमरन से पूछा की आपने मेरे प्रपोजल का जवाब नही दिया क्या मै आपको पसंद नही, या फिर आपको कोई और पसंद है अगर ऐसा है तो मुजे बता दीजिए हम बस फ्रेंड ही रहेंगे और इस बारे में मै आपसे फिर कभी बात नही करूँगा और हम फ्रेंड तक ही सिमित रहेंगे.

एक दिन मिलने का प्लान

लेकिन सिमरन भी आमिर को पसंद करती थी तो उसने आमिर को हसकर जवाब दिया नहीं ऐसी बात नही है मै तो बस यही देख रही थी की आप भी मुजसे उतना ही प्यार करते हो की नही जितना मै आपसे पहिले दिन से ही कर बैठी थी आमिर ने कहा वो……तेरी…… तो ऐसी बात है. आप मुजे परेसान कर रहे थे सिमरन के कहा हा बिलकुल जितना मै तडपी हु आपके मुह से आई. लव. यू. सुनने के लिए उतना तो आपको भी मै जवाब देने के लिए तरसाउंगी ना.

आमिर नहे फिर प्यार से सिमरन को सिमु कर के बुलाया जब पहिली बार आमिर ने इस नाम से पुकारा तो सिमरन को बहुत अच्छा लगा तो उनसे कहा आमिर आप मुजे सिमु ही बुलया करो जब आप मुजे सिमु बुलाते हो तो मुजे बहुत अच्छा लगता है. फिर एक दिन आमिर ने सिमरन को फोटो भेजने को कहा लेकिन सिमरन फोटो भेजती भी तो कैसे क्यू की सिमरन के पास तो की-पैट वाला साधा मोबाइल था, तब सिमरन कहती है की फोटो में तो सब ही अच्छे लगते है मुजे आपसे आमने सामने मिलना है मुजे आपको देखना है लेकिन फेस २ फेस, तब आमिर ने इस बात पर हामी भर दी.

और फिर एक दिन मिलने का प्लान बनाया और आमिर अपने काम से छुट्टी लेकर सिमरन से मिलने आया और इधर से सिमरन भी उस से मिलने के लिए निकल गई मिलने की जगह पहिले से ही डिसाइड हो गई थी इस लिए दोनों को एक दुसरे को धुंडने में जादा तकलीफ नही हुई और पहिली बार दोनों की मुलाखत आमने सामने हुई, फिर दोना साथ में बहार घुमने गए पूरा दिन दोनों से साथ में बिताया और बहुत सारी बाते किए.

घर की और

दोनों ने एक दुसरे को अपने बारे में सबकुछ बताया और बाते करते करते कब शाम हो गई पता ही नही चला फिर सिमरन को घर की और जाने को लेट हो रहा था तो सिमरन बड़े ही प्यार से आमिर को कहती है की आमिर आपको छोड़ कर जाने की इच्छा तो नही हो रही है लेकिन मुजे घर जाने में लेट हो रहा है. आपसे मिलकर बहुत अच्छा लगा अब आप मुजे कभी छोड़ कर मत जाना यह सुनकर आमिर बहुत खुस होता है और कहता है की मुजे भी आपसे बात कर के बहुत अच्छा लगा चलो मै आपको आपके घर तक छोड़ दू यह कर कर दोनों वह से अपने अपने घर की और चले जाते है.

दोनों एक दुसरे से मिल कर बहुत खुश थे और ऐसे ही बात करते करते कुछ महीने बीत गए लेकिन सिमरन को क्या पता था की आमिर उस से बात करना बंद कर देंगा कुछ महीनो बाद आमिर ने सिमरन के msg कॉल का जवाब देना दीरे धीरे कम करने लगा था. लिकिन सिमरन यही सोच रही थी की आमिर कुछ काम में फसा होंगा या फिर उसका काम बढ़ गया होंगा इस कारण वह msg या कॉल का जवाब नही दे रहा है. फिर भी सिमरन लगातार आमिर को msg कॉल कर ही रही थी फिर एक दिन आमिर का जवाब आया आमिर लिखता है यार सिमरन ऑफिस में इतना काम बढ़ गया है की मुजे आपसे बात करने के लिए ही समय नही मिल पा रहा है. सिमरन ने इस बात को भी मान ली और फिर आमिर ने सिमरन से बात ही करना बंद कर दिया.

कॉल msg करना बंद

फिर भी सिमरन ने आमिर को कॉल msg करना नही छोड़ी क्यू की सिमरन का किसी काम में मन नही लगता था जब तक आमिर से सिमरन की बात न हो तब तक सिमरन का कोई भी काम करने दिल नही लगता था मनो आमिर सिमरन की कमजोरी बन गया था. इस कारण से सिमरन के पढाई पर भी मन नहीं लग रहा था वह अपनी पढाई भी ठीक से नही कर पा रही थी हमेसा उस के ही याद में खोई हुई रहती थी ऐसे ही कुछ महीने बीते और सिमरन ने भी धीरे धीरे आमिर को कॉल msg करना बंद कर दिया.

सिमरन ने आमिर को कॉल तो करना बंद कर दिया था लेकिन सिमरन अभी भी आमिर को नही भुला पाई थी कभी न कभी किसी न किसी बात पर उसको आमिर की याद आ ही जाती थी. ऐसे ही २ साल बीत गये और सिमरन पढाई के लिए बहार चली गई लेकिन आमिर की यादे भी उसकी के साथ चलती थी फिर सिमरन के पास खुद का फोन आया सिमरन बहार पढाई करने जा रही है इस लिए उसके घर के लोगो ने उसे फ़ोन लेकर दिया तो सिमरन ने पहिला कॉल आमिर को ही किया आमिर जो की सिमरन के दिल के बहुत ही करीब था इस कारन से आमिर का नंबर सिमरन को याद था.

२ साल बाद फिर

सिमरन ने आमिर को कॉल किया तो उसने फ़ोन उठाया सिमरन ने हेल्लो बोला फिर आमिर ने कहा हेल्लो आप कोण बोल रहे हो, सिमरन रो पड़ी और बोली २ साल के रिलेशनशिप को इतने जल्दी भूल गए की अब आवाज भी नही पहचानते मेरी मै सिमरन बोल रही हु, तब आमिर बोला मैंने तुमे बहुत कॉल करना चाह लेकिन आपने ही मुजे उस नंबर पर कॉल करने को मना किया था और कहा था की जब तक मै कॉल ना करू तब तक आप मुजे कॉल नहीं करोंगे लेकिन आप तो कॉल कर सकते थे मुजे और कॉल भी किया तो २ साल बाद फिर सिमरन गुस्से से बोली अच्छा जब मै खुद होकर बार बार कॉल msg करती थी तब तो कोई कदर नही थी न मेरी और अभी बोल रहे हो की मै तो कर सकती थी कॉल.

यह भी पढ़े :

मुजे अपनी आदत लगाई

जब मै कॉल करती थी तो क्या आप इतने बिजी रहते थे की मुझसे २ मिनिट भी बात नहीं कर सकते थे मै ने तो बस दिन के २४ घंटे में से शिर्फ़ २ मिनिट मांगे थे तुमसे क्या तुम मेरे लिए २ मिनट भी नही निकाल सकते थे. जब तुमको मुझसे प्यार ही नही था तो क्यू मुजे तुमने प्यार करना सिखाया क्यू तुम मेरे इतने करीब आए क्यू मुजे अपनी आदत लगाई मै तो अपने लाइफ में जैसे तैसे खुश ही थी तो क्यू तुम मेरे लाइफ में आए थे. आमिर ने कहा सिमरन ऐसी बात नही है.

मै तुमे सच्चा प्यार करता हु मेरा विशवास करो मै तुमे कभी धोका नही देना चाहता था. सिमरन कहती है तो क्या तुमारे दिल में मेरे लिए प्यार होता तो मैंने कितने कॉल कितने msg की तुमको क्या तुमे दिखे नही या फिर देख के अनदेखा कर दिए. सिमरन आमिर की एक भी बात सुनना नही चाहती थी आमिर ने समजाने की बहुत कोशिश की लेकिन वो २ साल की दुरी सिमरन के दिल में प्यार से जादा नफरत पैदा कर गई थी.

Note :

जब हम किसीसे इतने प्यार करे या फिर हमसे कोई इतना प्यार करे तब हमें उसकी कोई कदर नही होती लेकिन अगर वही हमसे दूर चला जाए तो उसकी कमी हमारे जिन्दगी में हर पल महसूस होती है. ऐसा ही सिमरन और आमिर के साथ हुआ.

Postscript – परिशिष्ट भाग

लेख का शीर्षक – True Love Story of 9th Class9 वीं कक्षा की सच्ची प्रेम कहानी

Published By – www.BarveTips.com

The tags – लव स्टोरी – True Love Story- अनोखी प्रेम कहानी 

यह भी पढ़े :

Leave a Reply

https://www.videosprofitnetwork.com/watch.xml?key=bbfecdcc01b94dfff0b88620d1e44491
error: Content is protected !!